Monday, June 6, 2011

"जन्म-दिन की हार्दिक शुभकामनायें ..."





नदियाँ जब तक बहतीं रहें,
सूर्योदय जब तक होतें रहें।
जन्म-दिन तब तक मनातीं रहो,
दुआ है मेरी सदा मुस्कराती रहो।
फूल चमन में जब तक खिलते रहें,
खुशबूं से फिजायें जब तक महकती रहें।
जन्म-दिन तब तक मनातीं रहो,
दुआ है मेरी सदा मुस्कराती रहो।
बारिशें जब तक बरसती रहें,
इन्द्रधनुष जब तक बनते रहें।
जन्म-दिन तब तक मनातीं रहो,
दुआ है मेरी सदा मुस्कराती रहो।
चंदा में जब तक चांदनी रहे,
तारों में जब तक जगमगाहट रहे।
जन्म-दिन तब तक मनातीं रहो,
दुआ है मेरी सदा मुस्कराती रहो।

2 comments:

  1. किसके लिए दुआ है ...बहुत सुंदर रचना...

    ReplyDelete